No icon

डाबर हनी ने सुंदरबन के शहद किसानों के साथ मनाया शुभो बिजयो

नई डिजिटल फिल्म ‘स्वीटनैस ऑफ गिविंग बैक’ का किया लॉन्च

कोलकाता: एक पुरानी कहावत है ‘भगवान हमेशा देता ही है’। बिजयो दशमी के शुभ अवसर पर डाबर हनी ने सुंदरबन के शहद किसानों के लिए एक अनूठी सीएसआर पहल की घोषणा की है। पिछले कुछ महीनों के दौरान इलाके में तूफ़ान और भारी बाढ़ के कारण इन लोगों की आजीविका पर बुरा असर पड़ा है। अपनी इस पहल “स्वीटनैस ऑफ गिविंग बैक” के माध्यम से डाबर हनी इस मुश्किल समय में उनके परिवारों की मदद के लिए हाथ बढ़ाना चाहता है।

“सुदरबन के शहद किसान, देश के शहद उद्योग की नींव हैं। कोविड की दूसरी लहर के बाद इलाके में आई बाढ़ ने खूब तबाही मचाई और सुंदरबन के लोगों की आजीविका पर बुरा असर हुआ। उनकी फसलें नष्ट हों गई, यहां तक गांवों में पीने के पानी तक की कमी आ गई। शहद किसानों के परिवारों को सहयोग प्रदान करने के लिए डाबर उन्हें अगले एक साल तक सूखा राशन और रोज़मर्रा की ज़रूरत का सामान मुहैया कराएगा। इलाके में ऐसे 23 परिवार हैं जो शहद इकट्ठा करके अपनी रोज़ी-रोटी चलाते हैं। इस छोटी सी कोशिश के ज़रिए हम न सिर्फ इन परिवारों के कल्याण एवं स्वास्थ्य के लिए काम करना चाहते हैं, बल्कि दुर्गा पूजा के इन शुभ दिनों के दौरान उनके चेहरों पर त्योहारों की मुस्कान भी बिखेरना चाहते हैं।“ डाबर इंडिया लिमिटेड में कैटेगरी हैड-हेल्थ सप्लीमेन्ट्स, श्री कुनाल शर्मा ने कहा।

इस अवसर पर डाबर हनी ने एक डिजिटल फिल्म का अनावरण भी किया जो खास सुंदरबन के शहद किसानों को समर्पित है और दर्शाती है कि किस तरह इस कम्युनिटी को शहद इकट्ठा करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। फिल्म में डाबर हनी से बने स्वादिष्ट व्यंजन संदेश के साथ दुर्गा पूजा का त्योहार मनाते मुस्कराते चेहरों को दिखाया गया है।

कंटेंट फर्स्ट ब्राण्ड फिल्में बनाने वाली कंटेंट शॉप आईसीई मीडिया लैब ने फिल्म को प्रोड्यूस किया है।

इस अवसर पर आईसीई मीडिया लैब के क्रिएटिव हैड देबोजीत साहा ने बताया, “जब हम बाढ़ प्रभावित गांवों में पहुंचे, वहां का दृश्य और ग्रामीणों की स्थिति देखकर सन्न रह गए। अपने पिछले असाइनमेन्ट के लिए भी हम यहां आए थे, उस समय हमने इन लोगों के साथ बातचीत की, उनके साथ काम किया और एक साथ मिलकर खाना भी खाया। लेकिन इस बार के हालात ने हमारे दिल को गहरी चोट पहुंचाई। इसीलिए जब डाबर ने सुंदरबन के शहद किसानों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया तब हमने भी उनके साथ जुड़ने का फैसला ले लिया। जब हम उनके पास राहत सामग्री, कपड़े, भोजन और मिठाईयां लेकर पहुंचे, तो उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा। हमने इन पलों को कैमरे में कैद कर लिया, हालांकि उन्हें इसका अहसास भी नहीं हुआ! अच्छा लगता है कि जब हम दुर्गा पूजा जैसे खास मौके पर समाज की मदद के लिए ऐसी छोटी सी कोशिश कर पाते हैं! यह अपने आप में आनंददायी अहसास है।“

डिजिटल फिल्म का यूट्यूब लिंक: https://www.youtube.com/watch?v=1I5nRg3fXq0

डाबर इंडिया लिमिटड के बारे में: डाबर इंडिया भारत की अग्रणी एफएमसीजी कंपनियों में से एक है। पिछले 137 सालों से गुणवत्ता की धरोहर को बनाए रखते हुए आज डाबर भारत का सबसे भरोसेमंद नाम बन चुका है और दुनिया की सबसे बड़ी आयुर्वेदिक एवं नैचुरल हेल्थकेयर कंपनी है। डाबर इंडिया के एफएमसीजी पोर्टफोलियो में नौ पावर ब्राण्ड्स शामिल हैं-हेल्थकेयर स्पेस में डाबर च्यवनप्राश, डाबर हनी, डाबर हनीटस, डाबर पुदीन हरा और डाबर लाल तेल; पर्सनल केयर स्पेस में डाबर आंवला, डाबर रैड पेस्ट और वाटिका; तथा फूड कैटेगरी में रियल।

Comment