No icon

ANURADHA PAUDWAL

जिस कलाकार को बंगाल के लोगों ने पसंद किया है, वह पूरी दुनियाभर में शुमार हो जाता है: अनुराधा पौडवाल

भारतीय हिन्दी सिने जगत की सबसे प्रतिभाशाली गायिकाओं मे से अनुराधा पौडवाल एक है। हिंदी सिनेमा में उन्हें गायकी के योगदान के लिए कई सारे पुरुस्कारों से भी नवाजा जा चुका है। अनुराधा एकमात्र ऐसी गायिका थीं जो मंगेशकर बहनों को टक्कर देने की क्षमता रखती थीं। अनुराधा पौडवाल का जन्म 27 अक्टूबर 1954 को हुआ था।

अनुराधा को फिल्म हीरो के गानो की सफलता के बाद लोकप्रियता मिली और उनकी गिनती शीर्ष गायिकाओं में की जाने लगी| इस फिल्म मे उन्होने लक्षिकांत-प्यारेलाल के साथ जोड़ी बनाई। हीरो की सफलता के बाद इस जोड़ी ने कई और फिल्मों मे सफल गाने दिए जैसे मेरी जंग, बटवारा, राम लखन और आखरी में तेज़ाब। इसके बाद उन्होने टी-सीरीज़ के गुलशन कुमार के साथ हाथ मिलाया और कई नये चेहरों को बॉलीवुड में दाखिला दिलाया। इनमे से कुछ हैं उदित नारायण, सोनू निगम, कुमार सानू, अभिजीत, अनु मलिक और नदीम श्रवण।

हाल ही में उनसे हमारे संवाददाता सप्तर्षि विश्वास ने उनसे एक खास मुलाक़ात की. तो लीजिये पेश है उनसे की गई बातचीत के मुख्य अंश:

1.माहनगर की वो कौन सी चीज है, जो आपके दिल के बेहद करीब है ?

-पिछले 45 वर्षों से माहनगर का दौरा कर रही हूं. यहां के लोग, संस्कृति इत्यादि मुझे बेहद पसंद है. महानगर स्थित दक्षिणेश्वर काली मन्दिर में तो मेरा जाना तय है. कार्यक्रम के लिए यहां आना नही भी हुआ तो भी कालीमंदिर आती हूं और मां के दर्शन करतीं हूं. यह मेरे दिल के बेहद करीब है.

2. माहनगर में आपने काफी स्टेज शोज किये हैं,आपके हिसाब से किस तरह आज का म्यूजिक सिनेरियो बदल रहा है ?

-देखिए आज रियलिटी शोज के पार्टिसिपेंट्स भी हमारे साथ ही शोज करते हैं. इवेंट ऑर्गनाइजर्स भी बदल रहें हैं. पहले बारिन दा थे जिन्होंने किशोर कुमार साहब के लिए कई शोज ऑर्गनाइज़ किये हैं. फिर तोचन दा से लेकर कई लोग इस फील्ड में आये. इन सबके भी कई प्रायॉरिटीज़ थे. लेकिन एक चीज़ हमेशा से यहीं रही कि लोग म्यूजिक को तब भी पसंद करते थे और वे आज भी पसंद करते हैं. इसके अलावा वे सभी कलाकारों से भी बेहद प्यार करते हैं.

3. स्टेज शोज के दौरन अपने कुछ अनुभवों को साझा करें

- नेताजी इंडोर स्टेडियम में शोज के दौरान जिस तरह का प्यार मिलता है वह वाकई लाजवाब है. पहले वहां 3 से ४ दिनों तक शोज हुआ करता था. एक ही रात में मैंने ३ शोज भी किये हैं. यहां तक कि बर्दवान,दुर्गापुर, मिदनापुर इत्यादि जगहों में भी ऐसा हुआ करता था. यह काफी मिस मरती हूँ. काफी दिन हो गए एक ही दिन में ३ से ४ शोज किये हुए.

4.आपके चाहनेवालो की ओर से कैसा रिस्पांस मिलता है ?

- वे सभी दीदी-दीदी कहकर पुकारते रहते हैं. और वाकई दिल से दीदी भी मानते हैं. इस संदर्भ में मैं एक और बात कहना चाहूंगी कि जिस कलाकार को बंगाल के लोगों ने पसंद किया है, वह पूरी दुनियाभर में शुमार हो जाता है.


5.स्टेज में जाने से पहले दिमाग मे क्या चलता रहता है ?

-देखिए इसके लिए मैं पहले से कोई भी तैयारी नही करती हूं. मुझे क्या गाना है क्या नही, ये मैं ऑडियंस पर छोर देती हूं. वैसे आज भी लोग आशिक़ी, दिल है की मानता नही इत्यादि के लिए आग्रह किया करते हैं.

6.माहनगर की ऐसी कोई भी चीज़ जो आप नापसंद करती हैं ?

-जी, सच पूछिये तो मुझे इस जगह से इतना प्यार हो गया है कि मुझे ऐसा कुछ भी दीखता नही.

7. वो कौन सा गाना है जो आपको सोने नही देतीं हैं ?

- देखिए संगीत मेरी ज़िन्दगी है. इसलिए मेरे लिए कोई ऑप्शन नही है.

8.किसके साथ स्टेज शेयर करना ज़्यादा पासन्द करती हैं ?

- कुमार शानु, उदित नारायण, सुदेश भोसले इत्यादि.

9. नए जमाने के सिंगर्स में से किस के साथ काम करना ज़्यादा पासन्द करेंगी ?

- आजकल सभी अच्छा गातें हैं, सो सबके साथ गाना चाहती हूं.

10. नए जमाने के सिंगर्स में से किसको पासन्द करतीं हैं ?

-आजकल सूफी वगैरह जो गा रहें हैं, मेरे ख्याल से वे काफी अच्छा कर रहे हैं. वैसे श्रेया घोषाल और सुनिधी चौहान मुझे बेहद पसंद हैं. कुछ और भी हैं लेकिन उनके नाम अभी याद नही कर पा रही हूं.

11. अब आपकी ज़िंदगी का क्या लक्ष्य है ?

- सिर्फ गाते रहने और कुछ काम भी कर रही हूं. जैसे महात्मा गांधी के १५० वीं जयंती पर मैंने एक भजन 'रघुपति राघव राजा राम' रिकॉर्ड किया है. उम्मीद करती हूं कि राम मंदिर का मसला निपटते ही यह भजन कारगर सिद्ध हो जाये.

12.आजकल फिल्मों में भी काफी पुराने चेहरे देखने को मिल रहे हैं, क्या आप भी फिल्मों में आना चाहती हैं ?

- क्यों नही, अच्छे ऑफर्स मिलेंगे तो ज़रूर करना चाहूंगी.

13. आजकल टीवी पर जितने भी सिंगिंग टैलेंट शोज आ रहे हैं, उस पर सिंगर्स की प्रतिक्रियाएं अक्सर ठीक नही होती है, इस पर क्या कहना चाहेंगी ?

- देखिए जितना भी कीजिये कोई कभी ठीक नही बोलेगा. अगर कुछ भी स्पाइसी नही होगा तो आप भी उस खबर को अपने अखबार में थोड़े न छापियेगा.

14. किसको अपना आइडल मानती हैं ?

-लता मंगेशकर जी को. उनके सभी गाने मुझे बेहद पसनद है.

15.लता जी के साथ जुड़ी हुई कोई यादगार लम्हा, जिसे आप साझा करना चाहेंगी.

-उनके साथ बिताया गया हर एक लम्हा वह मेरा 'माई टाइम' जैसे ही होता है.

16.आजकल के नए सिंगर्स के उद्देश्य में क्या कहना चाहेंगी ?

- मुझे खुशी है कि इनको आजकल काफी मौका दिया जा रहा है,जो आज से 20 साल पहले नही हुआ करता था.

Comment