No icon

SPACE FICTION

'दिन रात्रिर ग्लपो' का म्यूजिक और ट्रेलर जारी

-मैं संगीत के मामले में काफी चूजी हूं: सोमलता 

कोलकाता, नि.सं l आज महानगर स्थित बिड़ला प्लैनेटेरियम में डॉ. प्रसेनजीत चौधरी निर्देशित बांग्ला फ़िल्म 'दिन रात्रिर ग्लपो' का फिल्म से जुड़े सभी कलाकारों की उपस्थिती में ट्रेलर और म्यूजिक लांच किया गया. 

इस फ़िल्म में सौरव चक्रवर्ती,रुमकी चटर्जी,प्रदीप मुखर्जी, रायती भट्टाचार्या,राजताभ दत्ता और देबेश रॉयचौधरी हैं. म्यूजिक शांतनु दत्ता ने दिया है. इस फ़िल्म के निर्माता सुप्रीति चौधरी हैं. फ़िल्म आगामी 28 फरवरी 2020 से सभी सिनेमाघरों में दस्तक देने जा रही है.

अगर इस फ़िल्म के संगीत की बात करें तो आज इस फ़िल्म का एक टाईटल ट्रैक को रिलीज किया गया. इसके अलावा फिल्म में एक और गीत है. फ़िल्म के टाइटल ट्रेक' दिन रात्रिर ग्लपो' में सिंगर सोमलता आचार्या ने अपनी आवाज दी है.हालांकि इस गीत को फ़िल्म में इस्तेमाल नहीं किया गया है. जहां तक ट्रेलर की बात आती है, इसको देखने के बाद यह प्रतीत होता है कि इस फिल्म में 2 कहानियां हैं. पहली कहानी में एक लडक़ी के स्पेस जाने की कहानी बयां करती है. जहां अभिनेत्री रायती भट्टाचार्या स्पेस में विचरण करती हुई दिखाई देतीं हैं. वही दूसरी कहानी में अभिनेता राजताभ दत्ता दिखाई देते हैं, जिस पर इंसान की मृत्यु को लेकर जुनून सवार है.

मौके पर उपस्थित फ़िल्म के निर्देशक डॉ. प्रसेनजीत चौधरी ने फ़िल्म के बारे में बातचीत करते हुए कहा, इस फ़िल्म को तैयार करने में मुझे 2 साल लग गये. फिल्म की सबसे बड़ी खासियत है कि इसमें काफी कम बजट में अंतरिक्ष एवं जीरो ग्रेविटी मूवमेंट को दिखाया गया है. इसे कर दिखाना वाकई मेरे लिए चैलेंजिंग था.

'ये सभी जानते हैं कि संगीत के मामले में मैं काफी चूज़ी हूं. इस फिल्म का टाईटल ट्रैक काफी हटकर है और इसी वजह से इस गीत के लिए मैंने हामी भरी,' जी हां, मौके पर उपस्थित सिंगर सोमलता आचार्या ने इस फ़िल्म के टाईटल ट्रैक के बारे में बातचीत करते हुए कुछ ऐसा ही कहा.

वही मौके पर अभिनेत्री रुमकी चटर्जी ने फ़िल्म के बारे में बातचीत करते हुए कहा, इस फ़िल्म में विज्ञान के साथ-साथ मानविक सम्बन्धों को बेहतर तरीके से पिरोया गया है.

लॉन्चिंग के मौके पर उपस्थित फिल्म की एक और नायिका रायती भट्टाचार्या ने फ़िल्म में अपने किरदार के बारे में बातचीत करते हुए कहा, इस फ़िल्म में मैं एक एस्ट्रोनॉट के चरित्र में दिखाई दूंगी. इस चरित्र के लिए मुझे 2 महीने ट्रेनिंग लेनी पड़ी थी. जिसमें मुझे हर रोज रस्सी के सहारे 1 घंटे लटकना पड़ता था.

दूसरी तरफ अभिनेता प्रदीप मुखर्जी का कहना है कि निर्देशक ने फिल्म को इस तरीके से शूट किया है जिसे देखकर हर कोई दंग रह जायेगा.

मौके पर फिल्म के निर्माता सुप्रीति चौधरी ने कहा, इस फिल्म को तैयार करने में मुझे काफी लोगों का सहयोग मिला है, जिसके लिए मैं उन सभी का शुक्रगुजार हूं. 

'विज्ञान को लोगों तक पहुंचाने की ज़िम्मेदारी मैंने अपने कंधों पर लिया है.जैसे ही मुझे पता चला कि उपरोक्त फ़िल्म स्पेस फिक्शन पर बनाई गई है, मैं इस फ़िल्म से जुड़े सभी को सपोर्ट करने के लिए आ पहुंचा हूं,' जी हां, लॉन्चिंग के मौके पर उपस्थित बिड़ला प्लैनेटेरियम के डायरेक्टर डी पी दुआरी ने फ़िल्म के बारे में बातचीत करते हुए कुछ ऐसा ही कहा.

इस अवसर पर कई गणमान्य लोग मौजूद थे.

Comment