No icon

मशहूर होने के लिए जहां अभिनेत्रियां नंगी हो रही हैं, तो वहीं रेडियो स्टेशन के आरजे को किसी के पैरों पर गिरते देखा जा रहा है

- माजरा है फेमस होने का, इसमें आप दिल की नहीं बल्कि दिमाग की सुनते हैं

कोलकाता, नि.स। सूत्रों के अनुसार खबर मिली है कि मशहूर फोटोग्राफर डब्बू रतनानी के कैलेंडर: 2020 के लिए कुछ अभिनेत्रियों ने न्यूड शूट करवाया है. अभिनेत्री भूमि पेडनेकर, कियारा आडवाणी और सनी लियोनी फोटोशूट के लिए न्यूड हुई हैं. कियारा को तो एक पत्ते के सहारे अपने गोपनीय अंगों को छुपाते देखा गया तो वहीं भूमि को बाथ-टब के अंदर अपनी बचीखुची शर्मिंदगी को ढंकते हुए पाया गया. आखिर में अगर सनी की बात करें तो उनके बारे में इतना कहा जा सकता है...गुम हुआ होश है. उन्होंने एक किताब के सहारे अपने-आप को ढंक कर पोज़ दिया है. जनाब आपको एक पल के लिए कैलेंडर देख कर ऐसा लग सकता है कि ये एक आर्ट है. लेकिन सच्चाई तो ये है कि इन लोगों को चंद मिनटों में मशहूर होना है. इसलिए ये सभी इसी फिराक में रहते हैं कि किसी भी किस्म के अवसर दिखते ही उसे लपक लेना है. अब आप शाहरुख खान को ही ले लीजिए. एक के बाद एक उनकी फिल्में बॉक्स आफिस पर पिट रही हैं. आखरी फ़िल्म उनकी ज़ीरो आई थी जो सही मायने में उनको हीरो से ज़ीरो बना डाला है. इसके चलते वे अब ये नहीं तय कर पा रहे हैं कि कौन सी फ़िल्म उनको करनी चाहिए कौन सी नहीं. लेकिन जिस दिन वे महानगर आये थे तो हमें पता चला कि उन्होंने 200 लोगों के साथ एक सेल्फी ली थी. फेमस होने का चस्का तो सबको लगा ही रहता है. उस वक़्त 200 मायूस चेहरे खिलखिला उठे थे. आज तक उसी सेल्फी को लेकर 200 से भी ज़्यादा चेहरे घूम रहे हैं कहीं न कहीं उसे दिखाकर काम जो निकलवाना है. शाहरुख को भी इसके लिए माइलेज मिल ही रहा होगा.

दूसरी ओर आप सब इस बात से तो वाकिफ हैं कि मशहूर होने के हर एक रास्तों में हमारे रेडियो जॉकी(आरजे) अनिमेष शर्मा ने तो पीएचडी कर रखी है. वे रेडियो स्टेशन पर बैठ कर पूरे दिन ब्लू- प्रिंट तैयार करते रहते हैं कि कब-कहा-कैसे कौन सा सेलेब्रिटी महानगर में दाखिला लेना चाहता है व ले चुका है ताकि वे वहां पहुंच कर ऐतिहासिक सेल्फी ले सकें. आपको कहा था न फेमस होने का चक्कर. जी हां, कहते हैं...अगर किसी चीज़ को दिल से चाहों, तो पूरी कायनात भी जुट जाती है उसे तुमसे मिलाने के लिये. और अनिमेष तो सोते-जगते, उठते-बैठते, खाते-पीते तो यही सोचते रहते हैं. इतने में उनको खबर मिल जाती है कि मशहूर अभिनेता व फिटनेस एक्सपर्ट मिलिंद सोमन महानगर अपनी खुद की इवेंट 'पिकाथन' को प्रोमोट करने के लिए आ रहे हैं. मिलिंद से याद आया कि वे भी मॉडलिंग के दिनों में अपनी गर्ल फ्रेंड मधु सप्रे के साथ नंगा होकर एक साथ फोटोशूट किया था. इस फोटोशूट को प्रबुद्धा दासगुप्ता ने शूट किया था. उस वक़्त उन दोनों ने एक बड़े से साँप के सहारे अपने गोपनीय अंगों को ढंक रखा था. आगे उनकी एक भी फिल्म तो चली नहीं लेकिन उनका वो अंदाज़ आज तक लोग भुला नहीं पाये. अनिमेष को इसकी भनक लगते ही वे इवेंट पर जा पहुंचे. बस फिर क्या था पहुंचते ही एकाएक उन्होंने 2 से 3 मोबाइल निकाल कर मिलिंद के साथ सेल्फी लेने के लिए तैयार हो गये. इतने में मिलिंद ने फरमाइश रखी कि भैया सेल्फी लेनी है तो 20 पुश-अप्स देने होंगे. अनिमेष सकते में आ गए लेकिन किसी भी हाल में सेल्फी तो लेनी है नहीं तो घर पर मुंह कैसे दिखाएंगे. सेल्फी एनालिस्ट जो ठहरी उनकी धर्मपत्नी. दरअसल अनिमेष ने ही घर पर ऐसा माहौल बना रखा है. देखते ही देखते अनिमेष सबके सामने फर्स पर लेट गये और पुश-अप्स देते रहें .फिर चलकर उनको सेल्फी मिली. सेल्फी के लिए मिलिंद ने अनिमेष को फर्श पर....सोच कर ही मेरे रोंगटे खड़े हो रहें हैं. अब बताइये इस वाकया को सुनने या देखने के बाद आपको किसी भी नज़रिये से ऐसा लगता है कि वे एक आरजे हैं. बताते चलें कि पूरे हफ्ते भर में रविवार की सुबह 11बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक वे एक ही शो चलाते हैं. 'संडे-फंडे'. जिस को लेकर खुद अनिमेष का कहना है, जिस वक्त मेरा शो चलता है उस वक़्त पूरी दुनिया रेडियो सुनने के बजाय कुछ और करते हैं. मेरे स्टेशन हेड का भी यही मानना है. अब सवाल ये है कि तो अनिमेष उस दौरान करते क्या हैं, कहीं मच्छर तो नहीं मारते. ये तो आप पता करने से रहे. हमें पता चला है कि वे हफ्ते भर कितनी सेल्फियां लेते हैं, कहाँ ले नहीं पाये इत्यादि, अपनी दुःख भरी दास्तां से ऑडियंस को अवगत करवाते रहते हैं. अब उनको मौके का फायदा जो उठाना है.
अब एक सवाल मुझे भी खाई जा रही है कि मिलिंद को भी भैया क्या दरकार था कि सबसे उन्होंने पुश-अप्स करवाया. अजी उनको भी तो इस उम्र में फेमस जो होना है. पुश-अप्स की बातें जो फैलानी है.
अब देखिए दिल्ली के आनंद विहार रेलवे स्टेशन भी इससे बच नहीं पाया है. 30 दंड बैठक करने पर यहां आपको फ्री में रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट मिल सकता है. मुझे पता नहीं अनिमेष को इस बात की भनक लगी है कि नहीं. नहीं तो फ्री टिकट और सेल्फी लेने के चक्कर में कहीं अपनी दो पहियों वाली वाहन न दौड़ा दें. अजी सोने से पहले लोग भगवान का नाम लेकर सोते हैं. ये जनाब एक हाथ में मोबाइल और अपना पिछवाड़ा फेवी-क्विक से मोटरसाइकल की सीट पर साट कर सोते हैं ताकि फोन की घण्टी बजते ही तुरंत अपनी फटफटिया चालू कर सकें. उनको चौबीसों घन्टे चैनल जो चलाना होता है.
लेकिन उपरोक्त बातों से एक बात साफ हो जाता है कि अनिमेष में अपने काम के प्रति Love, Passion और Obsession है.
अनिमेष ! भगवान से हमारी यही दुआ है…. आजीवन आप अपने दिल की सुने दिमाग की नहीं !

Comment