No icon

BANSHI

स्वर्गीय अभिनेता तापस पाल याद किये गये

कोलकाता, नि.स। मशहूर स्वर्गीय टॉलीवुड अभिनेता तापस पाल की आखिरी अभिनीत बांग्ला फिल्म थी बॉसी. इस फ़िल्म के  निर्देशक तुहिन सिन्हा और राहुल दास है. लेकिन फ़िल्म की शूटिंग पूरी होने से पहले ही 18 फरवरी 2020 को दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई. आज महानगर स्थित प्रेस क्लब में उपरोक्त फ़िल्म का ट्रेलर और पोस्टर फ़िल्म से जुड़े सभी कलाकारों की उपस्थिति में जारी किया गया. इसके साथ-साथ अभिनेता को श्रद्धांजलि भी दी गई. इस फ़िल्म के निर्माता जितेंद्र कुमार नाहर हैं. जेजे प्रोडक्शन के बैनर तले इस फ़िल्म का निर्माण किया गया है. इस फ़िल्म में तापस पाल खगेन दत्ता नामक चरित्र में हैं. अमित मित्रा ने इस फ़िल्म का म्यूजिक किया है.

मालूम हो कि तापस पाल की पहली बांग्ला फ़िल्म दादार कीर्ति थी और वो फ़िल्म ब्लॉकबस्टर हिट साबित हुई थी.

फ़िल्म की कहानी- खगेन दत्ता(तापस पाल) नामक एक शख्स अकेले ही अपनी पुरानी मकान की रखवाली करता है. दूसरी तरफ लोगों का मानना है कि उस मकान में भूतों का निवास है.इधर पैरानॉर्मल सब्जेक्ट्स लेकर पढ़ाई करनेवालों की हमेशा से यही चाहत रहती है कि वे उस मकान में जाकर भूतों के रहस्य का उजागर कर सकें. लेकिन खगेन उस घर में किसी को भी दाखिल होने नहीं देता है. अचानक एकदिन वह एक लड़के नई वजह से एक ग्रुप को इसकी परमिशन दे देता है. वह क्यों उनको इसकी इजाजत देता है ? इसके लिए आपको फ़िल्म देखनी होगी.

इस फ़िल्म में तापस पाल के अलावा अभिषेक चट्टोपाध्याय, देविका मुखोपाध्याय,देबाशीष गांगुली,अनिकेत चट्टोपाध्याय, दिव्येन्दु शेखर दास और मौटुसी विश्वास हैं. 

निर्देशक ने क्या कहा-

मौके पर बॉसी के निर्देशक तुहिन सिन्हा ने कहा, तापस पाल हरदम सेट पर यही कहा करते थे कि मुझे इसी फिल्म से कमबैक करना है. वे काफी आशावादी थे.

उन्होंने आगे कहा, जब पहली बार स्क्रिप्ट लेकर हम तापस पाल के पास पहुंचे तो उन्होंने कहा था, क्या वाकई आप इस फ़िल्म में मुझे कास्ट करना चाहते हैं क्योंकि अब कोई भी मुझे एक्टिंग के लिए पूछता नहीं है. मैं पर्दे पर एक अभिनेता के तौर पर दिखना चाहता हूं.

तुहिन का कहना है कि तापस दा हमेशा भगवान से यही विनती करते थे कि वे काफी समय तक अभिनेता की ज़िन्दगी गुजार सके.

आखिरी बार बॉसी फ़िल्म के कुछ बाकी पैचवर्क लिए जब हमने तापस पाल को फोन किया था तो वे मुम्बई में अपनी लड़की के पास थे. उस दौरान उन्होंने जवाब दिया था कि वे अस्वस्थ हैं. सो हमने सोचा कि थोड़ा इंतज़ार कर लेते हैं क्योंकि हम उनसे एक और फ़िल्म 'असमाप्तो प्रेमेर गल्पों' के बारे में भी चर्चा करने वाले थे.

Comment