No icon

केंद्रीय विद्यालय बैरकपुर (आर्मी) स्कूल में मना शिक्षक दिवस

कोलकाता, नि.स। प्रतिवर्ष 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म-दिवस के अवसर पर शिक्षकों के प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए भारत भर में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है। 'गुरु' का हर किसी के जीवन में बहुत महत्व होता है। इसी के मद्देनजर आज बैरकपुर स्थित केंद्रीय विद्यालय बैरकपुर (आर्मी) में भी शिक्षक दिवस मनाया गया.

मौके पर उपस्थित स्कूल के प्रधानाचार्य श्री चंद्र शेखर बिष्ट से जब ये पूछा गया कि आपके लिए शिक्षक दिवस क्या मायने रखता है, के जवाब में उन्होंने कहा, मैं खुद एक शिक्षक रहा हूं, अभी भी प्रधानाचार्य की भूमिका में भी एक शिक्षक ही हूं. इससे पहले मैं एक शिष्य भी रह चुका हूं. सो सभी पहलुओं को देखकर मुझे ऐसा लगता है कि साल में एक बार हम सभी को हमारे शिक्षकों को याद करना चाहिए. क्योंकि उन्हीं लोगों की दी हुई शिक्षा के बदौलत आज हम सभी कहीं न कहीं एक मुकाम पर पहुंचे हैं. हम सभी को हमारे शिक्षकों के प्रति शुक्रगुज़ार रहना चाहिए.

आज यहां आयोजित कार्यक्रम की क्या परिकल्पना है, पूछने पर बिष्ट ने बताया, पहली बात तो ये है कि फिलहाल ऑनलाइन क्लासेज चल रही है, सो हम बच्चों तक हर कार्यक्रम के दौरान आ रहे आदरणीय व्यक्तियों के संदेश पहुंचाते हैं. इसके साथ आज हम सभी ने डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी को याद किया और एक वचन दोहराया कि हमलोग एक शिक्षक हैं और हम हमारी शैक्षिक ज़िम्मेदारियों को संकल्पित हो कर पूरा करेंगे.

बिष्ट ने आगे कहा, शिक्षा मनुष्य को काफी ऊंचाई तक ले जाती है और उस ऊंचाई तक पहुंचने के लिये हमें कई लोगों की आवश्यकता होती है, जिसमें प्रथम हमारे माता-पिता होते हैं. कहा भी गया है माता-पिता पिता पहले शिक्षक होते हैं. हम जो भी बनते हैं उसमें हमारे माता-पिता और शिक्षकों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है. इसलिए हमें उनका सम्मान करना चाहिए. जो चीज़ हमें समझ में नहीं आती है उनसे हमें सीखना चाहिए.

इस अवसर पर स्कूल के भूतपूर्व छात्र-छात्राओं ने मिलकर प्रधानाचार्य के माध्यम से स्कूल के लिए एक वाटर कूलर प्रदान किया ताकि स्कूल से जुड़े सभी इसका लाभ उठा सकें.

छायाकार:शैबाल सुर

Comment