No icon

रक्षक फाउंडेशन की अनोखी पहल, गिनीज़ वर्ल्ड रेकॉर्ड में दर्ज हुआ नाम

जूट उद्योग को गति प्रदान करना मेरा एकमात्र लक्ष्य:चैताली दास

कोलकाता, नि.स l रक्षक फाउंडेशन के तत्वावधान में हाल ही में एक जूट बैग का निर्माण किया गया है. इसकी लंबाई 80 फ़ीट और चौड़ाई 100 फ़ीट है. सबसे दिलचस्प बात ये है कि गत बृहस्पतिवार को इसे गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल कर  लिया गया है. इसे वर्ल्डस लार्जेस्ट जूट बेग का दर्जा दिया गया है. इन सबके पीछे संस्था की सर्वेसर्वा और प्रसिद्ध सोशल एंटरप्रेन्योर श्रीमती चैताली दास हैं. उन्होंने जूट उद्योग को बढ़ावा देने के लिए ही महानगर के सेंट थॉमस स्कूल ग्राउंड परिसर में महज़ 18 कर्मियों को लेकर उपरोक्त जूट बैग को  अंजाम दिया है. इसको बनाने में कुलमिलाकर सात दिन लगे हैं.

आज सेंट थॉमस स्कूल प्रांगण में रक्षक फाउंडेशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान इसकी घोषणा की गई.

आपको बता दें, वर्ल्डस लार्जेस्ट जूट बैग के पीछे प्रिंसिपल स्पांसर के तौर पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट,कोलकाता, को -स्पांसर के तौर पर नेशनल जूट बोर्ड और स्पॉन्सर्स में विनोद लाहोटी, रक्षक सुविधा प्राइवेट लिमिटेड, गोल्डेक्स और चिरंतन सरकार का नाम शामिल है.

मौके पर उपस्थित चैताली दास ने कहा, जूट एक इको फ्रेंडली प्रॉडक्ट है और उसे पूरे विश्व दरबार में पहुंचाने के लिए ही मैंने ऐसा कदम उठाया है.

उन्होंने आगे कहा, इस बैग को अंजाम देने के लिए मैंने जो टीम बनाया था, उसमें जेल से निकले कुछ कैदियों के अलावा, डोमेस्टिक वायलेंस की शिकार महिलाएं, बस्ती में रहनेवाले गरीब लोग इत्यादि शामिल थे.

चैताली ने कहा, मैं जुट के ज़रिए आनेवाली पीढ़ियों के लिए एक ग्रीनर, हेल्दीयर ऐंड इनक्लूसिव वर्ल्ड प्रेजेंट करना चाहती हूं.

वहीं मौके पर उपस्थित श्री राजेन्द्र  सिंह ने कहा, मैं एक बिज़नेसमैन होने के साथ-साथ सोशल वर्कर भी हूं. जब मैंने सुना कि रक्षक फाउंडेशन की ओर से कुछ अनोखा प्रयास किया जा रहा है, तो मैंने इस स्कूल परिसर के लिए प्रिंसिपल से बात की और परमिशन दिलाया.

वहीं कार्यक्रम के दौरान उपस्थित बिज़नेसमैन श्री विनोद लाहोटी ने कहा, जूट उद्योग भारतवर्ष का सबसे पुराना उद्योग है और वह विलुप्त होते जा रहा है और ऐसे में चैताली जी उसको बचाने का प्रयास कर रही हैं, ये बहुत बड़ी बात है.

मौके पर चीफ गेस्ट के तौर पर उपस्थित श्री विनीत कुमार, आई आर एस ई ई, चेयरमैन श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट ने कहा, प्लास्टिक बैग्स के इस्तेमाल पर हर जगह रोक लगाया जा रहा है और मेरे ख्याल से उसका रिप्लेसमेंट जुट हो सकता है.

इस अवसर पर श्री मलय चंदन चक्रवर्ती, जूट कमिश्नर, नेशनल जूट बोर्ड, जॉन घोष, सेक्रेटरी, सैंट थॉमस स्कूल, कोलकाता, राजेन्द्र सिंह, सुखमणि ग्रुप, श्री जे पी अग्रवाल, गोल्डेक्स पेन्स, श्री जयदीप दास, रक्षक सुविधा प्राइवेट लिमिटेड सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे.

Comment