No icon

वेलस्‍पन वन लॉजिस्टिक्‍स पार्क्‍स ने भूस्‍वामियों और ब्रोकर्स के लिये ‘पार्टनर पोर्टल’ लॉन्‍च किया

औद्योगिक रियल एस्‍टेट सेक्‍टर में भूमि की खरीदारी और लीजिंग को डिजिटाइज करने का लक्ष्‍य

एक देशव्‍यापी एकीकृत फंड, डेवलपमेंट और एसेट मैनेजमेंट प्‍लेटफॉर्म वेलस्‍पन वन लॉजिस्टिक्‍स पार्क्‍स ने उद्योग में पहली बार एक कदम उठाते हुए, एक अनोखा, ऑनलाइन ‘पार्टनर पोर्टल’ पेश किया है। इस प्‍लेटफॉर्म की मदद से कंपनी अपने बाहरी हितधारकों, खासकर भू-स्‍वामियों और ब्रोकर्स के साथ प्रभावी ढंग से सहयोग कर पाएगी। इस प्‍लेटफॉर्म का लक्ष्‍य है एक पारदर्शी और दक्ष प्रणाली तैयार करना, जो लीड्स की शेयरिंग को सुचारू करेगी और वेलस्‍पन वन की भूमि खरीदारी और लीजिंग टीमों के साथ सीधे संवाद का चैनल बनाएगी।

अभी वेयरहाउसिंग और लॉजिस्टिक्‍स सेक्‍टर में लीड जनरेशन की प्रक्रिया संवाद के पारंपरिक तरीकों तक सीमित है। एक ऑनलाइन और एकीकृत प्‍लेटफॉर्म की पेशकश वेलस्‍पन वन का बड़ा कदम है, ताकि उद्योग में डिजिटाइजेशन हो और यह ‘डिजिटल इंडिया’ जैसी पहलों के अनुरूप है, जहां ऑनलाइन इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर बनाने पर बहुत जोर दिया जा रहा है।

इस अनूठे फीचर के बारे में विस्‍तार से समझाते हुए, वेलस्‍पन वन लॉजिस्टिक्‍स पार्क्‍स के मैनेजिंग डायरेक्‍टर अंशुल सिंघल ने कहा, “इंटरनेट की बढ़ती पहुंच और टेक्‍नोलॉजी को अपनाये जाने में बढ़ोतरी से विभिन्‍न क्षेत्रों में डिजिटाइजेशन को तेजी मिली है। उद्योग को भूमि और लीजिंग के ट्रांजैक्‍शंस की पुरानी और लंबी प्रक्रिया खत्‍म करने के लिये एक सुगम प्‍लेटफॉर्म चाहिये। अपनी अलग और टेक-इनैबल्‍ड पेशकश ‘पार्टनर पोर्टल’ के साथ हमारा लक्ष्‍य एकल ऑनलाइन चैनल के जरिये पारदर्शिता के स्‍तर को उच्‍च करना, संवाद को बाधारहित बनाना और सही समय पर अपडेट्स देना है।‘’ उन्‍होंने आगे कहा, ‘’चैनल को मिलने वाली सभी लीड्स का मूल्‍यांकन एक सीआरएम के अंतर्गत किया जाता है, जो हमें डील्‍स के जल्‍दी निपटान की अनुमति देता है और उद्योग के असली रेनमेकर्स, यानि ब्रोकर समुदाय के प्रयासों पर फोकस करने में मदद करता है।‘’

इस फीचर का फायदा भूस्‍वामी, ब्रोकर्स, ग्राहक और इंटरनेशनल प्रॉपर्टी कंसल्‍टेन्‍ट्स (आईपीसी) कंपनी की वेबसाइट के पार्टनर पोर्टल सेक्‍शन पर आसानी से रजिस्‍टर करके उठा सकते हैं। फिर रजिस्‍टर करने वाले को यूनिक क्रेडेंशियल्‍स दिये जाते हैं, जो एक खास डैशबोर्ड तक पहुंचने की अनुमति देते हैं और भारत में भूमि के ट्रांजैक्‍शंस एवं/अथवा वेयरहाउस लीजिंग की जरूरतों को पूरा करने के लिये नई लीड्स देने में उन्‍हें समर्थ बनाते हैं। पार्टनर्स न केवल नई लीड रजिस्‍टर कर सकते हैं, बल्कि ई-मेल या फोन कॉल के बिना अपनी मौजूदा लीड्स का स्‍टेटस भी देख सकते हैं। वेबसाइट पर डिटेल्‍स साझा होने के बाद एक नियुक्‍त इन-हाउस टीम लीड्स की जांच और मूल्‍यांकन करती है। चूंकि, यह सिस्‍टम अनावश्‍यक पत्राचार को कम करता है, लीड के डुप्‍लीकेशन से बचाता है और तेज टर्नअराउंड टाइम देता है, इसलिये सूचना के सभी फॉर्म्‍स लीड के प्रभावी मूल्‍यांकन के लिये डिजाइन किये जाते हैं। यह पोर्टल सुरक्षित भी है और इसमें दर्ज सारी सूचनाओं को अत्‍यंत गोपनीय रखा जाता है, केवल वेलस्‍पन वन की चुनिंदा और प्रासंगिक टीमों को ही ऐसे डाटा तक पहुंच मिलती है।

टेक्‍नोलॉजी से चलने वाले समाधानों की जरूरत पर अपनी बात रखते हुए, एनारॉक प्रॉपर्टी कंसल्‍टेन्‍ट्स प्रा. लि. के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा, ‘’एनारॉक में हमें अपनी प्रॉपर्टी-टेक्‍नोलॉजी पहलों से उत्‍कृष्‍ट परिणाम मिले हैं और हम इसकी वकालत करते हैं कि अन्‍य लोग भी रियल एस्‍टेट की समूची महत्‍व श्रृंखला में ऐसी टेक्‍नोलॉजीस अपनाएं। टेक्‍नोलॉजी से प्रारंभिक बदलाव आता है और यह रियल एस्‍टेट बिजनेस के हर पहलू तक पहुंचकर रहेगी। वाणिज्यिक और औद्योगिक रियल एस्‍टेट में इसकी प्रासंगिकता महत्‍वपूर्ण है और कोविड-19 के बाद के दौर में वेयरहाउसिंग रोमांचक अवसरों वाला सेक्‍टर है, जिसे टेक्‍नोलॉजी से संचालित अप्रोच का लाभ मिलेगा।”

इस प्‍लेटफॉर्म को पायलट लॉन्‍च फेज में कई यूजर्स की सक्रिय भागीदारी मिली है, जिसे परफेक्‍ट बनने में लगभग दस महीने लगे हैं। रियल-टाइम में डाटा की उपलब्‍धता के साथ इस पोर्टल को हाथ में रहने वाले डिवाइसेस, लैपटॉप्‍स और डेस्‍कटॉप्‍स द्वारा एक्‍सेस किया जा सकता है। प्रक्रिया को और आसान बनाने की मंशा से वेलस्‍पन वन इसका एक मोबाइल एप्‍प भी विकसित करने की योजना बना रहा है।

वेलस्‍पन वन के विषय में

वेलस्‍पन वन लॉजिस्टिक्‍स पार्क्‍स (डब्‍ल्‍यूओएलपी) एक एकीकृत फंड, डेवलपमेंट एवं एसेट मैनेजमेंट ऑर्गेनाइजेशन है; जो भारत में बड़े फॉर्मेट वाले, संस्‍थागत और ग्रेड-ए लॉजिस्टिक्‍स पार्क्‍स की डिलीवरी के लिये बना है। यह एक वैश्विक व्‍यवसाय समूह से सहयोग प्राप्‍त औद्योगिक वेयरहाउसिंग का एकमात्र प्‍लेटफॉर्म है- 2.7 बिलियन अमेरिकी डॉलर के वेलस्‍पन ग्रुप से; जो कि भारत में सबसे तेजी से बढ़ रही बहुराष्‍ट्रीय कंपनियों में से एक है और लाइन पाइप्‍स, होम टेक्‍सटाइल्‍स, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, स्‍टील, एडवांस्‍ड टेक्‍सटाइल्‍स और फ्लोरिंग सॉल्‍यूशंस में बिजनेस करती है।

वेलस्‍पन वन का व्‍यवसाय मुख्‍य रूप से अपने ग्राहकों की लोकेशन सम्‍बंधी जरूरतों को पूरा करना और उन्‍हें श्रेणी में सर्वश्रेष्‍ठ रियल एस्‍टेट सॉल्‍यूशंस प्रदान करना है, ताकि आपूर्ति श्रृंखला से जुड़ी उनकी जरूरतों का बेहतर प्रबंधन हो सके। डब्‍ल्‍यूओएलपी की मैनेजमेंट टीम को औसतन 18 वर्षों का संबद्ध अनुभव है और भारत में 115 एमएम एसएफ से ज्‍यादा कंस्‍ट्रक्‍शन प्रोजेक्‍ट्स डिलीवर करने का संचयी ट्रैक रिकॉर्ड है।

वेलस्‍पन वन सुसंगत लैण्‍ड पार्सल्‍स की सोर्सिंग और डेवलपमेंट द्वारा भारत की सबसे चहेती वेयरहाउसिंग कंपनी बनने की आकांक्षा रखता है, जो संस्‍थागत निवेशकों के लिये उपयुक्‍त हो और महत्‍वपूर्ण लोगों द्वारा लीज पर आए। इसके साथ ही प्रोजेक्‍ट के लाइफसाइकल में उच्‍च स्‍तर का अनुपालन और सुरक्षा बनाये रखना और विनियामक चूकों के प्रति शून्‍य सहनशीलता सुनिश्चित करना भी इसकी मंशा है।

ज्‍यादा जानकारी के लिये www.welspunone.com देखें।

Comment