No icon

EXCLUSIVE INTERVIEW

अपने आखिरी दिनों में वो सिर्फ मेरे गीतों को ही सुना करती थीं: तमघ्न घोष

कोलकाता l कुछ समय पहले प्रसिद्ध म्यूजिशियन तमघ्न घोष की मां तृप्ति घोष का हार्ट ब्लॉक की वजह से निधन हो गया है. वे 67 वर्ष के थे. अपनी मां के देहान्त के बाद तमघ्न फिर से अपने अधूरे काम को अंजाम देने में जुट गुए हैं. यानी कि एक से बढ़कर एक संगीत तैयार करना और अपने चाहनेवालों तक पहुंचाना. पिछले वर्ष तमघ्न ने बॉलीवुड सिंगर संजीवनी भेलांडे(फेम:चोरी चोरी नज़रें मिली) के साथ करार किया था. आगे चलकर उन्होंने संजीवनी से एक गीत 'अनेक दूरे' गवाया. इस गीत को पिछले साल 11 अक्टूबर को रिलीज किया गया. इसी बीच हमारे प्रतिनिधि सप्तर्षि विश्वास से उनकी एक खास बातचीत हुई है. तो लीजिए पेश है उनसे की गई बातचीत के मुख्य अंश:

1. क्या आप अपनी मां को प्रेरणा स्रोत मानते थे?

-एक बेहतर इंसान होने के नाते मेरी मां हमेशा से मेरे लिए प्रेरणा स्रोत रही हैं. वह मुझे सर्वश्रेष्ठ म्यूजिशियन मानती थीं. अपने आखिरी दिनों में भी वो सिर्फ मेरे गीतों को ही सुना करती थीं. शायद उन्हें ये अहसास हो गया था कि अब वे ज्यादा दिनों तक मेरे गीतों को नहीं सुन पाएंगी. वैसे मेरा मानना है, एनर्जी नेवर डाइज़, इट जस्ट ट्रांसफार्मस. इसलिए मुझे उनकी यादों को लेकर आगे बढ़ते रहना होगा.

2. आजकल टॉलीवुड तथा बॉलीवुड म्यूजिक परिदृश्य में बदलाव देखें जा रहे हैं, क्या कहना चाहेंगे?

-अगर टॉलीवुड की बात करें तो यहां दो तरह के म्यूजिक तैयार किये जाते हैं, सिंगल और फिल्मी गीत. गुणवत्ता तभी पाई जाती है जब इसके पीछे कोई अनुभवी संगीतकार हो. मेरे जैसे गीतकार तथा संगीतकार जब एक से बढ़कर एक गीतों को तैयार करते हैं, तो उन्हें उनकी मेहनताना मिलनी चाहिए. लेकिन मैंने देखा है जब किसी बड़े सिंगर से इसकी बात करो तो वे उस गीत को हो छोड़ देते हैं. यह मेरे साथ भी हुआ है. अक्सर ऐसे सिंगर्स खुद गीतों को कम्पोज़ करने में लग जाते हैं. इसलिए आजकल के गीतों के मानक नीचे की तरफ जा रहे हैं. हम जैसे संगीतकार दिल से काम करते हैं. इसलिए गीतों में मिठास पाई जाती है और वे उत्कृष्ट भी होते हैं. वहीं बॉलीवुड म्यूजिक की बात करें तो यहां बड़े घर के गायक आते हैं, व्यूज़ खरीदते हैं. और दो दिनों के बाद अपने घर लौट जाते हैं.

अपनी माँ तृप्ति घोष के संग तमघ्न

दूसरी तरफ आजकल कोई भी म्यूजिक कम्पनी आपके गीतों को प्रोड्यूस नहीं करते हैं. गीतों को तैयार करने के बाद अगर आप उन्हें देते हैं, तो ही वे उसे रिलीज़ करते हैं. इसलिए कई बेहतरीन सिंगर्स पीछे ही रह जाते हैं. यह बढ़े दुःख की बात है.

3.आजकल कम्पटीशन ज्यादा देखी जा रही है, इस दौड़ में अपने आपको किस तरह से तैयार कर रहे हैं?

-मैं खुद अपने आपको अपना प्रतिद्वंद्वी मानता हूं. अगर आप गौर करें तो पाएंगे कि कोई अच्छा गाता है, कोई अच्छे बोल लिखता है, कोई अच्छा म्यूजिक कम्पोज़ करता है इत्यादि. लेकिन मेरे जैसा मल्टी-टैलेंटेड म्यूजिशियन अब तक मेरी नज़रों के सामने आया नहीं है. यानी जो गाने के बोल लिखने से लेकर उसे कम्पोज़ करना, साउंड डिज़ाइनिंग करना, उस गीत को प्रोड्यूस करना इत्यादि काम एक साथ कर पाए. 3 साल की उम्र से ही स्टेज पर गा रहा हूं. उस समय से ही संगीत के लिए तालीम ले रहा हूं. सिलसिला अब तक जारी है. खुद काफी सारे इंस्ट्रूमेंट्स बजा सकता हूं. मैंने हर एक चीज़ बारीकी से सीखी है. बोल चाहे जैसे हों, मिनटों में लयबद्ध कर सकता हूं. मेरे सोशल मीडिया में 67000 ऑर्गेनिक फॉलोवर्स हैं. विदेशी गीतों को सुनता रहता हूं, रिवाज़ करता हूं, वर्कआउट करता हूं, अपने आप को चुस्त रखने के लिए हर एक प्रयास करता हूं. यहां तक कि नई प्रतिभाओं को अपने साथ काम करने का मौका भी दिया करता हूं.

4. पिछले वर्ष आपने बॉलीवुड सिंगर संजीवनी भेलांडे(फेम:चोरी चोरी नज़रें मिली) के साथ करार किया था, अपना अनुभव बताए.

- जी हां, उनसे एक गीत 'अनेक दूरे' गवाया था. इस गीत को पहली बार सुनते ही उन्होंने इसे गाने के लिए हामी भर दी थी. 90 के दशक में उनके गाये हुए गीतों से मैं काफी प्रभावित हुआ था. आज उनके साथ काम कर पा रहा हूँ, यह मेरे लिए काफी बड़ी बात है. उन्होंने सोशल मीडिया में मेरी प्रशंसा भी की है. पिछले वर्ष अनेक दूरे के 3 वर्जन्स रिलीज़ किये गए थे. उस समय मेरे म्यूजिक लेबेल टी म्यूजिक ओरिजिनल को लांच करना और उस गीत को हिट करवाना मेरे लिए काफी चैलेंजिंग था. लेकिन मुम्बई में बांग्ला गीत रिलीज़ करवाने से लेकर उसे हिट करवाने में मैं कामयाब रहा. उस दौरान यानी 2020 में मुम्बई से कुलमिलाकर 7 ट्रैक रिलीज़ किया गया था. उनमें से दिल तरसे, भालोबासा और अनेक दूरे उल्लेखनीय हैं.

5.अपनी आनेवाली परियोजनाओं के बारे में बताए.

-मेरे द्वारा कम्पोज़ की गई एक बांग्ला गीत जिसमें संजीवनी जी ने अपनी आवाज़ दी है, इसी वर्ष रिलीज़ किया जाएगा. इसके बोल भी मैंने ही लिखी है. इसकी डबिंग मुम्बई और मिक्सिंग कोलकाता में हुई है. इसके अलावा दो और हिंदी गीतों के लिरिक्स और ट्रैक्स तैयार हैं, उसे भी जल्द रिलीज़ किया जाएगा. इसके लिए बॉलीवुड सिंगर भी फाइनल किया जा चुका है.

Comment