No icon

NEW ARRIVAL

बारह कहानियों की एक किताब नेवर से नो टू लव

कोलकाता, (नि.स)l मशहूर राइटर, फ़िल्ममेकर तथा सोशल वर्कर पद्मिनी दत्ता शर्मा की बारहवीं किताब 'नेवर से नो टू लव' प्रकशित हो चुकी है. बाजार में आते ही पहले ही दिन इसकी 100 कॉपी बिक गई थी. इस किताब में कुलमिलाकर बारह कहानियां हैं. इन कहानियों की सबसे दिलचस्प बात यह है कि इनके प्रमुख पात्र अपनी लड़ाई खुद लड़ते हैं और अंत में जीत भी हासिल करते हैं. पद्मिनी का दृढ़ विश्वास है कि प्रेम में संगीत बनाने, जीवन बदलने और धूप फैलाने का अनूठा जादुई गुण है. पद्मिनी के अनुसार, हर समय प्यार की आवश्यकता नहीं होती है, एकतरफा प्यार आत्मा को मुक्त करता है और जीवन के लिए समृद्ध यादें बनाता है. 

आपको बता दें, 2012 में उनकी लिखी हुई पहली किताब आई थी स्पाइस अप योर मैरिज और उसके बाद अनसेंसर्ड रिविलेशन्स, सेंसुअस लव पोयम्स, हाफ बेक्ड लव, ग्लॉस स्प्लिन्टर्स, द इटरनल क्वेस्ट, लेजीटीमेटली ईल्लेजीटीमेट, फाइव हॉट सिज़्लर्स, ट्रूली योर्स, हाऊ टू बिकम बेस्ट पेरेंट्स और स्लीपिंग विथ द आर्च राइवल्स प्रकाशित हुई है. हर कोई पद्मिनी की लेखनी के दीवाने हैं, क्योंकि उनकी कलम से लिखी हुई हर एक लब्ज़ कच्चा, स्पष्टवादी और बिना सेंसर किया हुआ रहता है. और उनकी हर एक किताब अमेज़ॉन में उपलब्ध है.

Comment