24x7 Taaza Samachar
डेरामिक ने भारत के अपने दहेज प्लांट में उत्पादन क्षमता को दोगुना किया
Tuesday, 23 Nov 2021 01:47 am
24x7 Taaza Samachar

24x7 Taaza Samachar

    2017 में दहेज में प्लांट शुरु करने के बाद डेरामिक ने चार वर्षों में उत्पादन लाइनों को दो से बढ़ाकर चार किया

    लेड-एसिड बैटरी इंडस्ट्री की बढ़ती ज़रूरतों को पूरा करने के लिए उत्पादन क्षमता में विस्तार

 

कोलकाता, नवंबर- असाही कासेई ग्रुप की कंपनी और ऑटोमेटिव, इंडस्ट्रीयल एवं स्पेशियलिटी एप्लिकेशंस के लिए लेड-एसिड बैटरी सेपरेटर्स बनाने वाली विश्व की अग्रणी निर्माता एवं सप्लायर कंपनी डेरामिक द्वारा भारत में लगातार अपने संचालन का विस्तार किया जा रहा है। कंपनी ने गुजरात स्थित दहेज के अपने निर्माण प्लांट में उत्पादन क्षमता को दोगुना कर दिया है।

 

भारत तथा पड़ोसी बाजारों की बढ़ती मांग के कारण पिछले चार वर्षों के दौरान इस प्लांट में उत्पादन लाइनों को दो से बढ़ाकर चार कर दिया गया है। चार लाइन होने से उत्पादन में महत्वपूर्ण वृद्धि होगी, जिससे कंपनी स्थानीय स्तर पर अपने भारतीय ग्राहकों की मांग पूरी कर पाएगी और ग्लोबल सप्लाई चेन की मुश्किलों से जूझ रहे अपने अन्य ग्राहकों की मदद भी कर सकेगी। इस क्षमता विस्तार से पड़ोसी देशों में एक्सपोर्ट की संभावनाएं भी खुलेंगी। भारत में डेरामिक, अग्रणी भारतीय ब्रांड्स के लिए प्राथमिक कंपोनेंट निर्माता है, और उसके पास देश में प्रमुख बाजार हिस्सेदारी बरकरार है।

 

कंपनी का दहेज प्लांट 2017 में स्थापित किया गया था। इस प्लांट ने पिछले चार वर्षों के दौरान दो अंकों में वृद्धि हासिल की है। प्लांट का उपयोग पीई सेपरेटर्स के निर्माण एवं फिनिशिंग के लिए किया जाता है। इसके अलावा, यहां उन डेवलपमेंट प्रोडक्ट्स का निर्माण करने की क्षमता है, जो अभी तक ग्राहकों के लिए व्यावसायिक रूप से उपलब्ध नहीं है। पिछले चार वर्षों के दौरान दहेज प्लांट में सैकड़ों लोगों को रोजगार दिया गया है, और प्लांट के 80 प्रतिशत से अधिक कर्माचारी स्थानीय कामगार हैं।

 

डेरामिक की दहेज इकाई में उत्पादन क्षमता के विस्तार के बारे में बताते हुए श्री चैड स्कूकमैन, प्रेसिडेंट, डेरामिक ने कहा, हमारे अत्याधुनिक दहेज प्लांट की संचालन क्षमता को बढ़ाने पर हम उत्साहित हैं, जिससे हमें अपना उत्पादन बढ़ाने और भारत में अपनी उपस्थिति में विस्तार करने में मदद मिलेगी। लेड-एसिड सेपरेटर इंडस्ट्री में ग्लोबल लीडर होने के नाते डेरामिक अत्याधुनिक बैटरी सेपरेटर समाधान उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है, जिससे देश की बढ़ती ज़रूरतों को पूरा किया जाएगा। नई उत्पादन लाइनों से हमें अपनी पेशकश को मज़बूत बनाने, बाजार की संभावित मांग के लिए तैयार रहने और लेड-एसिड बैटरी इंडस्ट्री के विकास को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। आने वाले वर्षों में इस उद्योग में बड़ी वृद्धि देखने मिलेगी। ग्लोबल सप्लाई चेन में मुश्किलों के चलते डेरामिक भारत के सभी प्रमुख ग्राहकों की मांग पूरी करने में सक्षम है और ज़रूरत पड़ने पर पड़ोसी देशों में एक्सपोर्ट करने की क्षमता भी रखता है। अत्याधुनिक पहलों को प्रमुखता देने वाले डेरामिक का दहेज प्लांट बैटरियों के लिए सेपरेटर्स तैयार करने में सक्षम है, जो आधुनिक ज़रूरतों को पूरा करेंगी और ऐसे सेपरेटर समाधान बनाने की क्षमता रखता है जो नई बाजार संभावनाओं को बढ़ावा देंगे।

 

भारत में मौजूद अवसरों के बारे में बताते हुए सुश्री अहिला कृष्णमूर्ति, मैनेजिंग डायरेक्टर, डेरामिक, ने कहाः भारत हमारे लिए एक बेहद आकर्षक बाजार है और हमने देश में महत्वपूर्ण विकास देखा है। आज, हम भारत में लेड-एसिड बैटरियों के लिए मज़बूत भविष्य देख सकते हैं, जो कि अधिकतर आधुनिक ऑटोमोटिव समाधानों, औद्योगिक उपयोग के क्षेत्र में मौजूद है। साथ ही छोटे शहरों में हमें विकसित ऊर्जा समाधानों के लिए मांग में वृद्धि भी देखने मिल रही है। यह सभी पहलू आने वाले दशक में लेड-एसिड बैटरी मार्केट को तेज़ गति से बढ़ावा दे सकते हैं। हमारा निवेश इस देश के भविष्य में हमारे भरोसे की पुष्टि करता है और देश की बढ़ती ऊर्जा ज़रूरतों क पूरा करने के लिए समर्पित हैं। बाजार की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए हम योग्य स्थितियां तैयार कर रहे हैं और भारत के विकास में योगदान देने के लिए अच्छी स्थिति में हैं।

 

डेरामिक के बारे में

 

डेरामिक एलएलसी, एक असाही कासेई ग्रुप की कंपनी है, जिसी स्थापना 90 वर्ष पहले हुई थी। यह ना केवल दुनिया में पॉलिथाइलीन (पीई) सेपरेटर बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है बल्कि ऑटोमोटिव, इंडस्ट्रियल एवं लेड-एसिड बैटरी इंडस्ट्री में स्पेशियलिटी उपयोग हेतु फेनोलिक रेसिन बेस्ड सेपरेटर बनाने वाली एकमात्र कंपनी है।

 

1969 में डेरामिक ने लेड-एसिड बैटरी इंडस्ट्री में ऑटोमेशन शुरु करने के लिए पॉलिथाइलिन सेपरेटर का अविष्कार किया था, जिसे सभी प्रमुख लेड-एसिड बैटरी निर्माता कंपनियों को सप्लाई किया जाता है। कंपनी के आठ निर्माण प्लांट हैं, जो यूनाइटेड स्टेट्स, फ्रांस, जर्मनी, भारत, चीन और थाईलैंड में मौजूद हैं। यह प्लांट ग्राहकों को समय पर आपूर्ति सुनिश्चित करते हैं।

 

भारत में डेरामिक ने अपना संचालन 2008 में बैंगलोर से किया। तब से लेकर आज तक कंपनी भारत में सेपरटर सप्लाई करने वाली सबसे बड़ी कंपनी बन चुकी है। भारती बाजार में बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए कंपनी ने गुजरात के दहेज में 2017 में अपना प्लांट शुरु किया। निर्माण एवं फिनिशिंग प्लांट के अलावा डेरामिक द्वारा दहेज में एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर और हिमाचल प्रदेश में एक फिनिशिंग प्लांट भी संचालित किया जाता है।

 

पिछले चार वर्षों के दौरान डेरामिक ने पनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाकर दोगुना कर लिया है। ‘थिंक ग्लोबल, एक्ट लोकल’ की मान्यता पर चलते हुए डेरामिक भारतीय बाजार में अंतराष्ट्रीय विशेषज्ञता लेकर आता है और उच्च-गुणवत्ता वाले कस्टमाइज्ड समाधानों के माध्यम से ग्राहकों को संतुष्ट करने का उद्देश्य रखता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया वेबसाइट देखें www.daramic.com

 

असाही कासेई के बारे में

असाही कासेई ग्रुप एक विविध कंपनियों का समूह है, जिसकी होल्डिंग कंपनी असाही कासेई कॉर्पोरेशन है। यह समूह मैटेरियल, होम्स और हेल्थ केयर बिजनेस सेक्टर में काम करता है। कंपनी द्वारा 100 से अधिक देशों में ग्राहकों को सेवाएं प्रदान की जाती है और यहां दुनिया भर के 40,000 से अधिक कर्मचारी हैं। 2015 में असाही कासेई ने डेरामिक का स्वामित्व रखने वाली कंपनी पॉलीपोर इंटरनेशनल, एलपी का अधिग्रहण किया था। अधिक जानकारी के लिए, कृपया वेबसाइट देखें www.asahi-kasei.com